Top

Upcoming Events:

!! Shrimad Bhagwat Katha- Belguma, Purulia, (West Bengal):- 03-10-2022 To 09-10-2022, Time:- 4:00 pm To 7:00 pm, Place: - Shri Rani Sati Mandir, Belguma, Purulia, (West Bengal) 723101 !!

गौसेवा धाम ने बनाया लम्पीग्रस्त गायों हेतु आइसोलेशन सेटंर

गौसेवा धाम ने बनाया लम्पीग्रस्त गायों हेतु आइसोलेशन सेटंर

Publish By - Admin

लम्पी ग्रस्त गायों के लिये पलवल का पहला आइसोलेशन सेटंर
गौसेवा धाम ने बनाया लम्पीग्रस्त गायों हेतु आइसोलेशन सेटंर

इन दिनों लम्पी महामारी अपने चरम पर है। देश के कई राज्यों में इस बीमारी ने गायों को अपनी चपेट में ले रखा है। इन लम्पीग्रस्त गायों को आश्रय देने के लिये होडल में गौ सेवा धाम हाँस्पीटल एवं नगर पालिका होडल के सहयोग से पलवल जिले का पहला आइसोलेशन सेटंर होडल में प्रारंभ किया गया। राष्ट्रीय राजमार्ग पर न्यू त्यागी मंदिर के पास इन महामारी ग्रस्त गायों को अलग से रखा गया है। यहाँ इन गौवंश के लिये पौष्टिक भोजन तथा दवाईयों का प्रबंध किया गया है। देवी चित्रलेखाजी के गौ सेवा धाम हॉस्पिटल के प्रशिक्षित चिकित्सकों की देखरेख में यहाँ कई बीमार गौंवश उपचाराधीन हैं।
   

लंपी वायरस के कुछ लक्षण 
यह वायरस गौवंश की लार, नाक के स्राव पाया जा सकता है. इसके अलावा, पशुओं की लसीका ग्रंथियों में सूजन आना, बुखार आना, अत्यधिक लार आना और आंख आना, वायरस के अन्य लक्षण हैं.
सबसे अधिक दिखने वाला लक्षण पूरे शरीर पर दाने या फोड़े जैसा निकल आते है । 
ऐसे किसी भी लक्षण के दिखने पर अपने नज़दीकी पशु चिकित्सक को जरूर दिखाएँ। 

बचाव के उपायः
बीमार गाय को स्वस्थ पशुओं से अलग रखें। 
पानी में फिटकरी, नीम की पत्ती तथा हल्दी डालकर गौवंश को नहलाये। 
चारे के साथ पौष्टिक आहार जैसे दलिया, चुनी आदि पर्याप्त मात्रा में दें। 
ध्यान रहे की ये समस्त उपाय अपने नज़दीकी पशु चिकित्सक की देख रेख में ही अपनाएं। 

 नगर पालिका के चेयरमैन शीशपाल कड्डन ने पशु पालकों से अपील करते हुये कहा कि बीमारी होने पर गायों को घर से नहीं निकालें अपितु उनका सही उपचार कराये। लम्पी महामारी के बारे में गौ सेवा धाम हॉस्पिटल के महामंत्री प्रत्यक्ष शर्मा ने कहा कि इस बीमारी से ग्रसित गाय का दूध अच्छे से उबालकर उपयोग में लिया जा सकता है। लम्पी बीमारी से मनुष्य को किसी प्रकार को कोई खतरा नहीं है। गौसेवा धाम हॉस्पिटल दुर्घटनाग्रस्त, बीमार एवं असहाय गौंवश तथा अन्य जीव-जन्तुओं का निःशुल्क उपचार करता है। लम्पी महामारी में गौ सेवा धाम पर अतिरिक्त बोझ है परन्तु अस्पताल प्रशासन तथा होडल नगर पालिका के संयुक्त प्रयास से इस बीमारी से गौंवश को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। महामारी के इस दौर में असहाय तथा बेजुबान गौवंश की पीड़ा को दूर करने के इस प्रयास का क्षेत्र के लोगों ने स्वागत किया है।
आपको बतादें की गौ सेवा धाम हॉस्पिटल पिछले 9 वर्षों से असहाय व् दुर्घटनाग्रस्त गौवंश के साथ साथ अन्य सभी जीव जंतुओं का उपचार करता आया है। साथ ही इस लम्पी महामारी में भी गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की चिकित्सक टीम उत्तर प्रदेश,हरियाणा व् राजस्थान की अनेक जगहों पर जाकर लम्पी से ग्रसित किसानों की पालतू व् बेसहारा गौवंश के उपचार हेतु 24 घंटे लगी हुई है। 

READ MORE
You should also have some support for cow service.

You should also have some support for cow service.

Publish By - Admin

राधे राधे जी, 


गौ सेवा धाम हॉस्पिटल (पशु हॉस्पिटल) में आपका स्वागत है |
विश्व संकीर्तन टूर ट्रस्ट के तहत चल रहा जी.एस.डी. हॉस्पिटल (देवी चित्रलेखाजी संस्थापक हैं और उनके पिताजी पंडित टीकाराम स्वामी जी ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं) ... 
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में सभी प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं निःशुल्क हैं।

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल , NH-19 होडल, जिला पलवल (हरियाणा) - 121106
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में बीमार, लाचार व बेसहारा पीड़ित गौमाता एवं अन्य जीव जंतुओं का मुफ्त में इलाज किया जाता है। जिसमें आपश्री दान सहयोग कर पुण्य के भागीदार बन सकते हैं।
बीमार, लाचार व बेसहारा गौवंश की सेवा और उनके इलाज हेतु दान सहयोग करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या आप Paytm | Phonepe | Google pay ( बैंक अकाउंट ट्रांसफर ) के माध्यम से भी दान सहयोग कर सकते हैं।

इस सेवा कार्य में दान सहयोग कर पुण्य के भागीदार बनें।

गौ सेवा के लिए थोड़ा सहयोग आपका भी हो...

*Link for Website :-  https://www.worldsankirtan.org/home


*Link for Online Donation & Bank Accounts :-  https://www.worldsankirtan.org/donate


*Paytm || GooglePay - 9991772222

 

दान से सम्बंधित किसी अन्य जानकारी के लिए हमारे कार्यालय में संपर्क करें - +91 9991771111, +91 9991772222, +91 9991773333, +91 9991774444 

READ MORE
THE STORY OF THE HUNGRY THIRSTY UNCLAIMED COW MOTHER TILL THE LAST RITES.

THE STORY OF THE HUNGRY THIRSTY UNCLAIMED COW MOTHER TILL THE LAST RITES.

Publish By - Admin

भूकी प्यासी, लावारिस गौ माता की अंतिम संस्कार तक की कहानी…

 

Cow mother is lying in the mud.

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में आई एक खबर की एक गौ माता कीचड़ में पड़ी हुई है , वहाँ के स्थानीय लोगों ने गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में फोन किया गौ सेवा धाम की एम्बुलेंस घटना स्थल पर पहुंची।

Two bulls fighting each other.

हमें वहाँ जाकर पता चला की आपस में लड़ रहे दो बेलों ने इसकी ये हालत की है और पता चला की ये गौ माता एक दो दिन से यहाँ पड़ी हुई है और इतनी कमजोर थी की गौ माता कीचड़ से उठ ही नहीं पा रही थी, उसका एक सींग भी टूट गया था |

The team of Gau Seva Dham Hospital taking out the cow from the mud.

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की रेस्क्यू / डॉक्टर्स टीम ने तुरंत गौमाता को कीचड़ से बहार निकाला और गौ माता को वहाँ से लेकर गौ सेवा धाम हॉस्पिटल आई।

 

Gau Sewa Dham Hospital Ambulance.

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की डॉक्टर्स टीम ने गौ माता के घाव वाली जगह को अच्छे से साफ़ कर पटटी की और गौ माता को अच्छे से साफ़ कर उसे निलहाया गया। गौ माता खड़ी नहीं हो पा रही थी |

 

Doctors team of Gau Seva Dham Hospital treating Gau Mata / Cow

 

The doctors team of Gau Seva Dham Hospital lifting the cow mother with the help of machine.

इसीलिए उसे मशीन की सहायता से उठाया गया मगर अफसोस इसी बीच गौ माता ने अपना दम तोड़ दिया। गौ माता का अंतिम संस्कार किया गया और गौ माता के अच्छे व स्वस्थ जीवन के लिए प्रार्थना की।

Link for video - https://fb.watch/dbZzt620OJ/

Call for Ambulance – 8816088825

Call for more Details – 9991771111 , 9991772222

READ MORE
धूमधाम से मनाया गया परशुराम जन्मोत्सव तथा अक्षय तृतीया का पर्व, गौ सेवा धाम ने बीमार गायों हेतु किया विशाल छप्पन भोग का आयोजन

धूमधाम से मनाया गया परशुराम जन्मोत्सव तथा अक्षय तृतीया का पर्व, गौ सेवा धाम ने बीमार गायों हेतु किया विशाल छप्पन भोग का आयोजन

Publish By - Admin

धूमधाम से मनाया गया परशुराम जन्मोत्सव तथा अक्षय तृतीया का पर्व, गौ सेवा धाम ने बीमार गायों हेतु किया विशाल छप्पन भोग का आयोजन

Celebrated Parshuram Janmotsav and Akshaya Tritiya festival with pomp, Gau Sewa Dham organized a huge Chappan Bhog for sick cows.

कोटवन करमन बार्डर पर स्थित गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में चल रही सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा के द्वितीय दिवस पर अक्षय तृतीया का पर्व धूमधाम से मनाया गया। प्रातःकाल गौ पूजन तथा स्वस्तिवाचन कर कार्यक्रम का श्रीगणेश किया गया। अक्षय तृतीया पर्व वैशाख के महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाया जाता है। इस दिन महर्षि जमदग्नि तथा माता रेणुका के यहाँ भगवान विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम का प्राकट्य हुआ था। इस दिन किये गये सत्कर्म अक्षय पुण्य प्रदान करते हैं।

 

 

गौ सेवा धाम में इस पावन पर्व को बीमार, घायल तथा दुर्घटनाग्रस्त गौवशं की सेवा कर मनाया गया। संध्याकाल में इन असहाय गौवंश हेतू विशाल भडांरे का आयोजन किया गया। जिसमें गौमाताओं को हरा चारा, रोटी, मीठा दलिया, गुड़, विभिन्न प्रकार की दालें, सोयाबीन की बड़ी आदि छप्पन प्रकार के व्यंजन परोसे गये। स्थानीय भक्तों के साथ-साथ दूर-दराज के क्षेत्रों से आये श्रद्धालुओं ने इस अवसर पर अपने हाथों से गायों की सेवा कर पुण्य लाभ कमाया। विदित रहे कि गौ सेवा धाम दुर्घटनाग्रस्त गौवंश के साथ-साथ अन्य घायल जीव-जन्तुओं की सेवा करने हेतू प्रसिद्ध है। यहाँ विश्वस्तरीय चिकित्सा मशीन तथा प्रशिक्षित डाक्टरों की टीम गौ सेवा हेतू सदैव तत्पर रहती है।

 
READ MORE
The fire in the fields and the bad condition of the Gau Mata (Cow).

The fire in the fields and the bad condition of the Gau Mata (Cow).

Publish By - Admin

खेतो में लगी आग और गौ माता का हुआ बुरा हाल |

The fire in the fields and the bad condition of the cow mother

 

 

 

हाल ही में आयी एक खबर की पास ही के एक गॉंव में किसी कारणवस खेत में आग लग गई और पता चला की खेतो के बीचो-बीच में एक गौ माता भी है,

Maybe something like this must have happened in the burnt field.

 

जो की जल चुकी है आग इतनी फ़ैल चुकी थी की गौ माता निकल ही नहीं पा रही थी जैसे ही गॉंव वालो को पता चला की गौ माता खेतो में है और वो जल रही है तो तभी गॉंव वालो ने गौ माता को कड़ी मेहनत कर खेतों से बाहर निकाला और तुंरत गौ सेवा धाम हॉस्पिटल, होडल को कॉल किया और गौ सेवा धाम की एम्बुलेंस तुरंत वहा पहुंची और एम्बुलेंस द्वारा गौ माता को हॉस्पीटल लाया गया।

 ​
GSD Animal Hospital ~ Ambulance
 
 

 

गौ माता का इतना बुरा हाल था कि हमें देखने में भी बहुत दर्द हो रहा था। हम देख कर ही पता लगा सकते थे की गौ माता जलने के कारण किस कष्ट से जूझ रही होगी। गौ माता इतनी जल चुकी थी की गौ माता की ऊपर वाली ज्यादातर खाल हट चुकी थी और गौ माता को उसकी खाल से खून आ रहे थे। गौ माता ना तो कुछ खा रही थी और ना ही कुछ पी रही थी।

Doctors team of Gau Sewa Dham Hospital, applying medicine to the burnt cow.

 

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की डॉक्टर्स टीम ने ज्यादा समय न लगाते हुए तुरंत गौ माता के शरीर की अच्छे से सफाई कर गौमाता को उसके दर्द में लाभ पहुंचाने वाली दवाई लगाई और इलाज करना शुरू किया।

 

जली हुई गौ माता को दवाई लगाते हुए, गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की डॉक्टर्स टीम |

 

कुछ समय बाद हमने देखा की गौ माता अब पहले से अच्छा महसूस कर रही है और कुछ खा पी भी रही है।

 

Devi Chitralekhaji asking doctors about the burnt cow.

 
Devi Chitralekhaji feeding the burnt cow mother.
 
The burnt cow mother (Gaumata) was now eating and drinking.

 

आप इस वीडियो के माध्यम से देख सकते है कि गौमाता को कितनी पीड़ा से गुजरना पड़ा होगा।

 

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ~ https://youtu.be/K7239lZEcs8

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें ~ https://fb.watch/cG2ar28eBB/

 

हम धन्यबाद करते है, गॉंव वालो का और गौ सेवा धाम हॉस्पिटल की एम्बुलेंस टीम एवं डॉक्टर्स टीम का जिनकी वजह से एक मासूम जान बच पाई।
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल, होडल ज्यादातर पशु हॉस्पिटल के मुकाबले एक नाम बन चुका है, जो की पिछले केई वर्षो से लगातार बीमार, लाचार व बेसहारा गौमाता एवं अन्य जीव जन्तुओं का मुफ्त में इलाज करता आ रहा है, आप सभी के सहयोग और गौ माता एवं अन्य जीव जंतुओं की सेवा के लिए हम ये कार्य करते आ रहे है और लगातार करते रहेंगे।

 

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल
Nh-19, होडल जिला पलवल , हरियाणा

Conatact :- 9991771111 , 9991772222 , 9991774444 , 8816088825

 
       GSD Animal Hospital , Hodal

 

Click Here ~ https://www.worldsankirtan.org/blog-details/donation-support-for-the-sick-helpless-and-destitute-cows

*Link for Website :- https://www.worldsankirtan.org/home

*Link for Online Donation & Bank Accounts :- https://www.worldsankirtan.org/donate

READ MORE
बीमार, लाचार व बेसहारा गौवंश की सेवा और उनके इलाज हेतु दान सहयोग ...

बीमार, लाचार व बेसहारा गौवंश की सेवा और उनके इलाज हेतु दान सहयोग ...

Publish By - Admin

राधे राधे जी, 


गौ सेवा धाम हॉस्पिटल (पशु हॉस्पिटल) में आपका स्वागत है |
विश्व संकीर्तन टूर ट्रस्ट के तहत चल रहा जी.एस.डी. हॉस्पिटल (देवी चित्रलेखाजी संस्थापक हैं और उनके पिताजी पंडित टीकाराम स्वामी जी ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं) ... 
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में सभी प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं निःशुल्क हैं।

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल , NH-19 होडल, जिला पलवल (हरियाणा) - 121106
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में बीमार, लाचार व बेसहारा पीड़ित गौमाता एवं अन्य जीव जंतुओं का मुफ्त में इलाज किया जाता है। जिसमें आपश्री दान सहयोग कर पुण्य के भागीदार बन सकते हैं।
बीमार, लाचार व बेसहारा गौवंश की सेवा और उनके इलाज हेतु दान सहयोग करने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या आप Paytm | Phonepe | Google pay ( बैंक अकाउंट ट्रांसफर ) के माध्यम से भी दान सहयोग कर सकते हैं।

इस सेवा कार्य में दान सहयोग कर पुण्य के भागीदार बनें।

*Link for Website :-  https://www.worldsankirtan.org/home


*Link for Online Donation & Bank Accounts :-  https://www.worldsankirtan.org/donate


*Paytm || GooglePay - 9991772222

 

दान से सम्बंधित किसी अन्य जानकारी के लिए हमारे कार्यालय में संपर्क करें - +91 9991771111, +91 9991772222, +91 9991773333, +91 9991774444 

 

हमें जो ये धनराशि ( दान सहयोग ) आपके द्वारा प्राप्त होगी, हम इस धनराशि से हमारे यहाँ " गौ सेवा धाम हॉस्पिटल " में उपस्थित बीमार, लाचार व बेसहार लगभग 400+ गौ माताएं और कुछ अन्य जीव जंतु है। जिनका हम प्राप्त हुई धनराशि से पीड़ित गौ माता, अन्य जीवों के इलाज हेतु दवाई व उनके प्रतिदिन खाने हेतु खल चोकर, भूसा की व्यवस्था एवं उनका भरण पोषण करते है और उनके स्वास्थ हेतु उपयोग में आने वाली अनेको प्रकार की वस्तुओं की व्यवस्था करते हैं।  जैसे - ऑपरेशन करने में काम आने वाली वस्तुए, उनको लाने ले जाने के लिए नव एम्बुलेंस एवं मोटर साईकल एम्बुलेंस की व्यवस्था, चारा काटने हेतु मशीन , गर्मिओ में गौ माता हेतु पंखे / कूलर व सर्दिओ में हीटर की व्यवस्था, गौमाता के लिए रोटी / दलिया / अन्य बनाने के लिए नव रसोई का निर्माण , गौमाता के इलाज हेतु नई मशीनो की व्यवस्था, उनके रहने हेतु नई वार्ड की व्यवस्था , एवं अन्य जीव जंतुओं के रहने के लिए वार्ड व नई जगह की व्यवस्था एवं हम गौ माता के उपयोग में आने वाली वस्तुओं की व्यवस्था करते हैं। 
 

आपश्री इस सेवा कार्य में दान सहयोग कर पुण्य के भागीदार बन सकते हैं।

READ MORE
देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में लगाया गया रक्तदान शिविर और लोगों ने किया रक्तदान

देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में लगाया गया रक्तदान शिविर और लोगों ने किया रक्तदान

Publish By - Admin

हरिनाम संकीर्तन से की गयी संकीर्तन दिवस की शुरुआत। 
देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर लोगों ने किया रक्तदान। 


गौसेवा धाम में पिछले सात दिनों से आयोजित श्री राधा चरितामृत कथा का बुधवार को श्री राधानाम संकीर्तन के साथ समापन हुआ। 
पूज्या देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस अवसर पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया।  रक्तदान - महादान की धारणा को साकार करते हुये 60 से ज्यादा रक्तवीरों ने इस आयोजन में बढ़ चढकर भाग लिया। देवी चित्रलेखाजी के जन्मदिन को संकिर्तन दिवस के रूप मनाते हुए गौ सेवा धाम की संकीर्तन फेरी भी की गई। संकीर्तन में देवी चित्रलेखाजी के साथ सैकड़ों सैकड़ों भक्त मास्क लगाकर संकीर्तन में झूमते नजर आए।
देवी चित्रलेखाजी के श्रीमुख से  आगामी सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा 14 से 20 फरवरी गौ सेवा धाम की धरा पर आयोजित होगी जिसका सीधा प्रसारण आस्था टीवी चैनल पर किया जाएगा 
 

READ MORE
देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में लगाया गया रक्तदान शिविर |

देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में लगाया गया रक्तदान शिविर |

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में लगाया गया रक्तदान शिविर |

देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस पर लोगों ने किया रक्तदान |

गौसेवा धाम में पिछले सात दिनों से चल रहे श्री राधा चरितामृत कथा के सप्तम दिवस में बुधवार को प्रसिद्ध कथावाचक पूज्या देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस अवसर पर गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। कुशल चिकित्सकों की देख-रेख में प्रातःकाल 10 बजे से इस कार्यक्रम का शुभांरभ किया गया। रक्तदान - महादान की धारणा को साकार करते हुये 50 से ज्यादा रक्तवीरों ने इस आयोजन में बढ़ चढकर भाग लिया। रक्तदान की महत्ता को समझते हुये देवी जी के पिता पं0 टीकाराम स्वामी जी ने स्वयं भी अपना रक्त दान किया। देवी चित्रलेखाजी के जन्मदिन को संकिर्तन दिवस के रूप मनाते हुए गौ सेवा धाम की संकीर्तन फेरी भी की गई। संकीर्तन में देवी चित्रलेखाजी के साथ सैकड़ों सैकड़ों भक्त मास्क लगाकर संकीर्तन में झूमते नजर आए।
 कार्यक्रम के अतं में उपस्थित समस्त रक्तदाताओं को शील्ड तथा प्रमाण पत्र देकर उनका अभिंनदन किया गया। गौ सेवा धाम हाँस्पीटल असहाय, लाचार तथा दुर्धटनाग्रस्त गौंवश का निःशुल्क उपचार करता है। अपनी अत्याधुनिक मशीनों, एम्बूलैंस तथा योग्य चिकित्सकों के माध्यम से यह हाँस्पीटल गायों के साथ- साथ मोर, नीलगाय, कुकुर, खरगोश, बकरी आदि कई जीव-जन्तुओं की भी निःशुल्क देख-रेख करता है। जीव सेवा के साथ- साथ रक्तदान शिविर का आयोजन कर गौ सेवा धाम ने मानव सेवा के क्षेत्र में भी अपनी दमदार उपस्थिती दर्ज करायी है।

READ MORE
कथा के मध्य धूम धाम से मनाया मकर संक्रांति का त्यौहार।

कथा के मध्य धूम धाम से मनाया मकर संक्रांति का त्यौहार।

Publish By - Admin

कथा के मध्य धूम धाम से मनाया मकर संक्रांति का त्यौहार।

गौवंश को वितरण किये गरम कम्बल और गुड तिल के लड्डू।

मकर संक्रांति पर भक्तों ने गाय को समर्पित किये अन्न वस्त्र और मीठा दलिया।

हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी क्षेत्र के प्रितिष्ठित पशु अस्पताल में धूम धाम से मनाया गया मकर संक्रांति का त्यौहार।
कोटवन - करमन बॉर्डर पर इस्थित देवी चित्रलेखाजी के सानिध्य में बीमार पशुओं के लिए निशुल्क संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में आयोजित सप्त दिवसीय श्रीमद भागवत कथा एवं श्रीराधा चरितामृत कथा के द्वितीया दिवस के मध्य में मकर संक्रांति के त्यौहार बड़े ही धूम धाम से मनाया गया। 
इस अवसर पर गौमाताओं को गुड तिल के लड्डू, मीठा दलिया, गरम गरम औटि, हरा चारा, ताज़ी सब्जियां खिलाकर मकर संक्रांति का  त्यौहार मनाया गया, बाहर से आये भक्तों ने गौमाता को गरम कम्बल उढ़ाये, साथ ही यहां कार्य कर रहे सेवकों को भी मिठाई, तिल के लड्डू, मूंगफली व कम्बल बांटे। 

यहां चल रही कथा में देवी चित्रलेखाजी ने श्री राधा रानी के चरित्र का वर्णन किया और साथ ही मकर संक्रांति के पावन त्यौहार के बारे में बताया की 
मकर संक्रांति का त्योहार, सूर्य के उत्तरायन होने पर मनाया जाता है। भारत के अलग-अलग क्षेत्रों में मकर संक्रांति के पर्व को अलग-अलग तरह से मनाया जाता है। 
अलग-अलग मान्यताओं के अनुसार इस पर्व के पकवान भी अलग-अलग होते हैं, लेकिन दाल और चावल की खिचड़ी इस पर्व की प्रमुख पहचान बन चुकी है। विशेष रूप से गुड़ और घी के साथ खिचड़ी खाने का महत्व है। इसके अलावा तिल और गुड़ का भी मकर संक्राति पर बेहद महत्व है। 
इस दिन पतंग उड़ाने का भी विशेष महत्व होता है। इस दिन कई स्थानों पर पतंगबाजी के बड़े-बड़े आयोजन भी किए जाते हैं। लोग बेहद आनंद और उल्लास के साथ पतंगबाजी करते हैं। 
देवीजी ने कहा की पतंग से पक्षिओं को होने वाले नुकसान को भी नज़र अंदाज न करें, पक्षिओं की सुरक्षा का ध्यान रखें, अगर पतंग में उलझकर कोई पक्षी घायल हो जाता है तो उसे जल्द से जल्द नजदीक पशु अस्पताल ले जाकर उसका उचित उपचार कराएं। 
भजन संकीर्तन करते हुए अपने त्यौहार को मनाएं।

READ MORE
नववर्ष की शुरुआत, गायों का भोज व हरिनाम संकीर्तन के साथ।  पढ़िए पूरी खबर

नववर्ष की शुरुआत, गायों का भोज व हरिनाम संकीर्तन के साथ। पढ़िए पूरी खबर

Publish By - Admin

नववर्ष पर गौवंश को हरा चारा, श्रद्धालुओं को भोजन और श्रीराधा नाम संकीर्तन | नए साल की शुरुआत गौमाताओं के साथ।

 

वैसे तो नववर्ष को देश विदेश में सभी अपने अपने तरीके से जश्न मनाकर जाने वाले साल को विदा और आने वाले साल का स्वागत करते हैं ।

वैसे ही हर वर्ष की भाँती इस वर्ष भी करमन बार्डर स्थित क्षेत्र के प्रतिष्ठित गौ सेवा धाम हाँस्पीटल ने नये साल का स्वागत घायल, बीमार तथा दुर्घटनाग्रस्त गौंवश की सेवा कर किया। दूर-दराज के क्षेत्रों से आये श्रद्धालुओं ने सर्वप्रथम पावन गौ सेवा धाम की परिक्रमा करते हुये संकीर्तन किया। तत्पश्चात हवन, यज्ञ तथा गौ आरती के साथ नववर्ष के कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इसके बाद उपचाराधीन गौंवश को अपने-अपने हाथों से गुड़, हरा चारा, गन्ना, दलिया आदि खिलाकर यहां पधारे श्रद्धालुगणों ने गौ सेवा की। नए साल के अवसर पर हाँस्पीटल की संचालिका देवी चित्रलेखा जी ने अपने भक्तों से डिजिटल माध्यम से जुड़ते हुए इस नए साल में जीवन को सकारात्मक विचारों से भर देने वाली कुछ बातें साझा करते हुए कहा कि जैसा आप अपने बच्चों को सिखाओगे वैसा ही वो सीखेंगे
हर त्यौहार पर हमे बच्चों को सामाजिक व सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करने वाले कार्यक्रमों से जोड़ना चाहिए।
अगर आप आप हर त्यौहार को किसी जरूरतमंद की मदद करते हैं तो आपको किसी शुभकामनायों की जरुरत भी न पड़ेगी।
बीते 2 साल हमारी जिंदगी में विपत्ति भरे जरूर रहे लेकिन हम सबने सकारात्मक विचारो के सहारे उन मुश्किल दिनों को भी पार किया अब हमे जरुरत है सकारात्मक विचारों के साथ नए साल की शुरुरात करें।
कोरोना जैसी महामारी जैसी आपदा से लड़ने के लिए कोरोना की दवाई के साथ साथ जरूरत है मजबूत आत्मबल की क्यूंकि आत्मबल मजबूत होगा तभी आप हर लड़ाई जीत पाओगे और सकारात्मक रह सकोगे
कार्यक्रम में मौजूद सैकड़ों भक्तों के लिए भंडारा प्रसाद का आयोजन भी किया गया, समस्त कार्यक्रम में राधा कृष्ण और सुदामा की झांकियां मुख्य आकर्षण का केंद्र रही।

आपको बता दें कि गौ सेवा धाम नित्य तथा निरंतर गौ सेवा में कार्यरत है। गौसेवा धाम हाँस्पीटल असहाय गौवंश तथा अन्य जीव-जन्तुओं का निःशुल्क उपचार करता है। यहाँ वर्षभर असहाय जीव-जन्तु चिकित्सा सुविधा प्राप्त करते हैं।
समस्त कार्यक्रम में कोरोना गाइडलाइंस का पालन किया गया अधिकतर भक्त मास्क पहने हुए नजर आए।

READ MORE
Gopashtami festival celebrated with pomp in Gauseva Dham Hospital.

Gopashtami festival celebrated with pomp in Gauseva Dham Hospital.

Publish By - Admin

गौसेवा धाम हाँस्पीटल में धूमधाम से मनाया गया गोपाष्टमी पर्व                

गोपाष्टमी पर गौवंश को लगाया 56 भोग

 

गोपाष्टमी ब्रज में संस्कृति का एक प्रमुख पर्व है। गायों की रक्षा करने के कारण भगवान श्री कृष्ण जी का अतिप्रिय नाम 'गोविन्द' पड़ा। इसी समय से गोपष्टमी का पर्व मनाया जाने लगा, जो कि अब तक चला आ रहा है।

गोपाष्टमी पर्व को गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में भी गौमाता को 56 भोग लगाकर गौ महाभोज विशाल भंडारा आयोजन कर बड़े धाम से मनाया गया

 हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी क्षेत्र के प्रतिष्ठित गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में राष्ट्रीय पर्व गोपाष्टमी बड़े धूमधाम से मनाया गया। प्रातःकाल गौ सेवा धाम के सेवकजनों ने देवी चित्रलेखाजी व बाहर से आये हुए सैकड़ों गौभक्तों के साथ मिलकर गायों के लिए विशाल हवन पूजन तथा आरती के साथ उत्सव का शुभारभं किया गया। आये हुए भक्तों  ने गौ और गोपाल की मानमोहक झांकी स्वरूप के भी दर्शन किये।

मध्य में गायों हेतू गौमहाभोज में कई सौ किलो मीठा दलिया, 5  कुंटल गुड़, 100 कुंटल गन्ना, हरा चारा, रोटी, फल तथा सब्जियों के साथ छप्पन प्रकार के व्यंजनों का भण्डारा प्रसाद आयोजित किया गया।

यह प्रसाद गौ सेवा धाम की तरफ से हरयाणा  यूपी व राजस्थान की दर्जनों गौशालओं में भी वितरित किया गया। ऐसा पहली बार नहीं की गौ सेवा धाम ने आस पास की समस्त की गौशाला के साथ मिलकर गोपाष्टमी का पर्व मनाया हो इस से पूर्व में भी गौ सेवा धाम हर वर्ष गौशालाओं को तैयार  किये हुए व्यंजन जैसे मीठा दलिया गुड रोटी आदि खाद्य पदार्थ गौशलों को भिजवाते आये है।

गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में असहाय, दुर्घटनाग्रस्त, बीमार गौवंश का निःशुल्क उपचार किया जाता है। आवश्यकता होने पर आसपास की गौशालाओं में रह रहे गौंवश की चिकित्सा सेवा हेतू भी गौसेवा धाम हाँस्पीटल सदैव तत्पर रहता है। गोपाष्टमी के अवसर पर क्षेत्र की गौशालाओं हेतू भोजन की व्यवस्था भी करने से गौसेवा धाम हाँस्पीटल ने गौ सेवा हेतू उत्तम उदारण प्रस्तुत किया है। गौ रक्षा दल, कई गौशाला समितियों तथा क्षेत्रवासियों ने गौ सेवा धाम के द्वारा की जा रही गौसेवा का स्वागत किया। गौसेवा धाम हाँस्पीटल की संचालिका देवी चित्रलेखा जी  की सु मधुर वाणी में संकीर्तन यात्रा के अतंर्गत सप्तदिवसीय गोपाष्टमी महोत्सव एवं श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन भी किया जा रहा है। उन्होनें बताया की गौ सेवा धाम हाँस्पीटल प्रत्येक दिन गोपाष्टमी के भाव में ही रहकर गौ सेवा करता है। दुर्घटनाग्रस्त गौंवश के छोटे उपचार से लेकर बड़े आपरेशन तक यहाँ किये जाते हैं। साथ ही अन्य घायल जीव जैसे बन्दर, कुत्ता, मोर, नीलगाय आदि का भी गौ सेवा धाम में निःशुल्क उपचार किया जाता है।

समस्त गोपाष्टमी कार्यक्रम के पूर्ण होने पर गौसेवकों तथा आम जनमानस हेतू भी भोजन प्रसाद की व्यवस्था की गई। गौ महाभोज में गौसेवा धाम हॉस्पिटल व गौरक्षा दल होडल तथा कोसीकलाँ के कार्यकर्ताओं का विशेष सहयोग रहा।

READ MORE
गौ सेवा धाम  गाय के गोबर से बने दीपक और धूपबत्ती से देगा स्वदेशी आंदोलन को बढ़ावा।

गौ सेवा धाम गाय के गोबर से बने दीपक और धूपबत्ती से देगा स्वदेशी आंदोलन को बढ़ावा।

Publish By - Admin

दीपावली के अवसर पर क्षेत्र के प्रतिष्ठित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल मे गायों की सेवा के साथ साथ जैविक रूप से अब दीपक, धूपबत्ती बनायीं जा रही है।

दीपक स्वचालित रूप से दीपावली से सम्बंधित है जो वर्ष का वह त्यौहार है। जब हम दीपक खरीदते है। दीपक जलाना, अंधकार को दूर करने और बुराई पर अच्छाई की जीत, अज्ञान पर ज्ञान का प्रतीक हैं। इसके अलावा यह माना जाता है कि धन की देवी, लक्ष्मी के स्वागत के लिए, गाय के गोबर से बना दीपक कल्याणकारी होता है।

हॉस्पिटल के माहासचिव प्रत्यक्ष शर्मा  ने बताया की सरकार की वोकल फॉर लोकल नीति को बढ़ावा देने के लिए गो सेवा धाम  मे अब दीपक, धूपबत्ती का उत्पादन कर रहे है। इस कार्य से आसपास के असहाय गोवंश तथा जीव-जंतु के लालन पालन तथा उपचार मे  सहयोग रहेगा। हज़ारो गाय आधारित उद्धमियों /किसानो /महिला उद्धमियों को व्यवसाय के अवसर पैदा करने, गाय के गोबर के उत्पादों के उपयोग से वातावरण स्वच्छ और स्वस्थ बनेगा, साथ ही गाय के गोबर से ही केचुआ की मदद से  जैविक खाद भी तैयार किया जा रहे है ज़िसके प्रयोग से किसान बगैर रसायनिक खाद के ही खेती मै अच्छी  फसल ले सकेंगे,

 इससे गौशाला को 'आत्मनिर्भर' बनने मे भी मदद मिलेगी। चीनी निर्मित उत्पादों की जगह पर्यावरण के अनुकूल विकल्प प्रदान करके, अभियान 'मेक इन इंडिया' विज़न और प्रधानमंत्री नरेंद्र  मोदी के मिशन को बढ़ावा मिलेगा और पर्यावरणीय क्षति को कम करते हुए स्वदेशी आंदोलन को भी बढ़ावा देगा। इसके साथ ही हॉस्पिटल की संचालिका तथा प्रसिद्ध कथवाचिका पूज्य देवी चित्रलेखा जी का कहना है की भारतीय त्यौहार पर विदेशी कंपनी से खरीददारी करना उचित नहीं है। अपने स्थानीय स्तर पर भारतीय सामान कि ही खरीददारी कर उनको आर्थिक रूप से सक्षम बनाये।

READ MORE
अपने सुपुत्र के स्वास्थ्य लाभ हेतु  कराया गौ हवन पूजन।

अपने सुपुत्र के स्वास्थ्य लाभ हेतु कराया गौ हवन पूजन।

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में हुए हवन और पूजा अनुष्ठान को इंग्लैंड के किशोर कुमार गुप्ता अपने पुत्र नरेश कुमार गुप्ता के स्वास्थ्य के लिए संपन्न कराया। इस मौके पर देवी चित्रलेखाजी के साथ मिलकर गौ सेवा धाम के समस्त कर्मचारी व पदाधिकारियों ने हवन यज्ञ में आहुति दी। गौ सेवा धाम के महामंत्री प्रत्यक्ष शर्मा ने बताया की भारतीय मूल के किशोर गुप्ता जो की अब इंग्लैंड में रहने लगे हैं।  किशोर गुप्ता के पुत्र नरेश गुप्ता जो की लकवा की वजह से चल फिर नहीं सकते और न ही वो भारत आ सकते हैं । किशोर और उनके पुत्र का बहुत मन था की वो भारत आकर गौवंश के बीच एक हवन पूजन का आयोजन करें, पर कोरोना और कम समय के चलते वो भारत न आ सकते इसीलिए किशोर जी और उनका पूरा परिवार  डिजिटल माध्यम की मदद से इस समस्त कार्यक्रम से वीडियो कॉल से जुड़े

किशोर ने हवन के साथ यहां भर्ती गौवंश के लिए मीठा दलिया व हरी सब्जियों का भंडारा कराया

साथ ही उन्होंने यहां काम आने वाली कुछ मशीनें भी गौ सेवा धाम को समर्पित करी।

गौ सेवा धाम की संचालिका देवी चित्रलेखाजी ने बताया की ऐसा पहली बार नहीं है की जब कोई अपने परिवार की शांति के लिए गौ सेवा धाम में हवन पूजा करा रहा हो इस से पूर्व में भी गौ सेवा धाम में बाहर विदेश में रह रहे भारतीय मूल के लोग इस तरह के आयोजन कराते आये हैं।

देवी चित्रलेखाजी ने बताया कि मानव जीवन में यज्ञ को सर्वश्रेष्ठ कर्म माना गया है। प्राचीन हिंदू सनातन परम्परा से आधुनिक युग तक यज्ञ मनुष्य के जीवन का अभिन्न अंग रहा है। हिन्दू समाज में अगर घर में कोई भी शुभ कार्य हो या परिवार की शांति या पर्यावरण की रक्षा की बात हो तो हवन का महत्व और भी बढ़ जाता है

देवी चित्रलेखाजी ने बताया की हवन में गौ माता के गोबर से बने उपले, लड़की व गाय के घी का उपयोग किया गया ताकि ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन पैदा किया जा सके।  साथ ही बताया की ऑक्सीजन चाहिए तो गाय के घी से ही हवन करें, क्यूंकि एक चम्मच गाय के घी से हवन करने से एक टन आक्सीजन बनती है जो नौ वर्ग किलोमीटर के वातावरण को शुद्ध बनाती है।

READ MORE
Cow eating Plastic, left helpless by us

Cow eating Plastic, left helpless by us

Publish By - Admin

कभी हिष्ट- पुष्ट दिखने वाली गाय आज एक एक सांस को मौहताज हो गयी है - कारण है पॉलिथीन प्लास्टिक कचरे के लगे ढेर |


जिस सनातनी धर्म देश भारत में गाय को मां का दर्जा दिया गया है उसी देश में गौवंश की र्दुदशा आम तस्वीर हो गई है।
कभी भूख से मरती गाय तो कभी प्लास्टिक और कचरा खाती गाय हमें जरूर दिख जाती है और तब याद आते है गोवंश को बचाने का दावा और वादे करने वाली सरकार।
कथनी और करनी में बहुत सारा फरक तब साफ़ दिखाई पड़ता है जब सड़कों पर अनाथ,बेसहारा घूमता गौवंश कचरे से गंदगी व पॉलिथीन खाने को मजबूर हैं। सुख.समृद्धि की प्रतीक रही भारतीय गाय आज कूड़े के ढेर में कचरा और प्लास्टिक की थैलियां खाती और फिर अपनी जान गवा देती

भारत भूमि में गाय की महिमा आदिकाल से रही है। हर हिन्दू घर में सबसे पहली रोटी गाय की और दूसरी रोटी कुत्ते की निकाली जाती थी।   यह विडंबना ही है कि भारत में  पूजनीय मानी जाने वाली गौवंश  की आज घोर उपेक्षा की जा रही है। शहर में जगह-जगह लगे प्लास्टिक के ढेर पर मुंह मारती गायों के दृश्य आम हैं। जरुरत से ज्यादा पॉलीथिन का प्रयोग न सिर्फ गौवंश अपितु मानव प्रजाति  के लिए भी जानलेवा साबित हो रही है।
घरों से सब्जियों फलों के निकले छिलके और अन्य खाद्य सामग्री पॉलिथीन में बांधकर कूड़े के ढेर पर फेंकी जा रही हैं। जहां बेसहारा गोवंश भोजन की तलाश में पहुंचते हैं और पूरा ही पॉलीथिन का पैकेट खा जाते है जिस से कभी न गलने वाली प्लास्टिक उनके पेट में जमा होती रहती है

विडंबना है कि देवताओं को भी भोग और मोक्ष प्रदान करने की शक्ति रखने वाली गौमाता आज चारे के अभाव में कूड़े के ढेर में कचरा और प्लास्टिक की थैलिया खाकर  हर महीने हजारों लाखों गोवंश अपनी जान गवां देते है,
क्या कोई है इनकी जिम्मेदारी लेने वाला? सरकार या सम्माज?
 विडंबना तो ये है की न सरकार और न समाज ऐसे गौवंश के लिए जागरूक है, ऐसे में आशा की किरन लिए उपश्तिथ है गौ सेवा धाम हॉस्पिटल जहां ऐसी बीमारी से ग्रसित अनेकों गौवंश का उपचार कर उनके पेट से आधा कुन्टल तक पॉलिथीन निकाली गयी,
इस गौमाता को भी दिल्ली एनसीआर के फरीदाबाद से यहां लाया गया जिसके साथ उसका छोटा सा बचा भी था,
टीम को जानकारी मिली की एक गौवंश ने कई दिनों से खाना पीना बंद कर दिया है और बच्चे को भी दूध पिलाने में अश्मर्थ है, ऐसे में बड़ी चुनौती थी माँ और बच्चे दोनी की जान बचें की ,
गौ सेवा धाम की एम्बुलैंस की मदद से माँ और बच्चे को उपचार क लिए होडल पलवल में स्थित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल लाया गया,
गाय के प्राथमिक उपचार और जाँच मै पाया गया की पेट में काफी मात्रा में पॉलिथीन जमा हुआ पड़ा हुआ है, ऐसे में गौ सेवा धाम की चिकित्सक टीम तुरंत लग गयी गौवंश के ओपरेशन में, घंटो चले इस ऑपरेशन में गौवंश के पेट से 50  किलो से ज्यादा प्लास्टिक कचरे के साथ लोहे की क्षड़, सिक्का, नुकीले कील पथ्थर, जैसे कभी न गलने वाले नुकसानदायक पदार्थ निकाले गए,

समय रहते गौवंश और उसके छोटे बच्चे की जान बचा ली गयी, पर न जाने ऐसे कितने गौवंश हैं जो सही समय पर उपचार न मिलने के आभाव में अपने प्राण त्याग  रहे हैं,
गौ सेवा धमहोस्पिटल की संचालिका देवी चित्रलेखाजी द्वारा पिछले 10 वर्षो में भारत के अलग अलग राज्यों में जाकर प्लास्टिक बैन को लेकर अनेकों रैलिया व कार्यक्रम आयोजित कर
लोगों को बताया गया की प्लास्टिक । पॉलीथिन से क्या क्या नुकसान हमें और हमारी प्रकृति को झेलने पड़ते हैं,
आइये हम सब मिलाकर पॉलिथीन और प्लास्टिक के उपयोग को कम कर एक स्वच्छ वातावरण बनाने को आगे आएं
जुड़िये गौ सेवा धाम हॉस्पिटल से |

ऑपरेशन द्वारा गौमाता के पेट से निकाली 55-60kg पॉलीथीन । इस वीडियो को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि पॉलिथीन बंद हो
 https://fb.watch/57qlDwZTdG/

 

 

 

READ MORE
Visitor Review of Her Visit to Gau Seva Dham Hospital

Visitor Review of Her Visit to Gau Seva Dham Hospital

Publish By - Admin

A visitor's feelings on her visit to Gau Seva Dham Hospital :

' Devi Chitralekha Ji's Gau Seva Dham is no less than a paradise not only for the animals but also for every visiter that visits this beautiful place. Unlike it's name, the dham not only treats and serves cows, but also every animal that needs help. The animals are not only provided best possible treatment from expert veterinarian doctors but also food and shelter. A good fresh and green environment is created to make animals feel more homely and comfortable. The employees there are so compassionate and friendly and they are determined towards the noble cause. The dham also offer free cold drinking water to anyone and everyone. There are many ambulances available to pick up the injured and sick animals within 50 km of radius of the Gau Seva Dham. As soon as the staff there gets any information about any injured or sick animal, the ambulance is sent as soon as possible. Devi Chitralekha ji envisions a compassionate and good world where both animals and humans live peacefully. This is most certainly one of the most heart warming and fulfilling places I've ever visited to. I would like to thank Devi ji for helping these innocent animals and giving them a good healthy life.'

READ MORE
A Report on Gau Seva Dham Hospital

A Report on Gau Seva Dham Hospital

Publish By - Admin

गौ-वंश की रक्षा के लिये समर्पित एक हॉस्पिटल 
🙏🌿🌼🌿🌼🌸🌿🌸🌿🙏
भगवत प्रशाद शर्मा की एक रिपोर्ट :-

" दिल्ली से लगभग 90 किलोमीटर की दूरी पर होडल (हरियाणा ) में मथुरा रोड पर स्थित है पूज्यनीय देवी चित्रलेखा जी का “गौ सेवा धाम हॉस्पिटल” बीमार और एक्सीडैंटल गौ वंश की रक्षा करता है ये हॉस्पिटल। पाँच एम्बुलेंस 24 घंटे गौ वंश की रक्षा के लिये तैयार रहती हैं। अनुभवी डाक्टरों की टीम, 
सुरक्षा कर्मचारी और गौ माता की दिन-रात सेवा करने वाली अलग से विशेष टीम रहती है। हॉस्पिटल में एक बडी एक्स-रे मशीन, सभी प्रकार के उपकरणों से सुसज्जित एक बडी लैबोरेटरी, मैडीकल रूम और अलग से एक ऑपरेशन थैयटर है। जहाँ गम्भीर बीमारी और ज्यादा चोट लगने पर गौ-वंश के ऑपरेशन किये जाते हैं। 
हॉस्पिटल के डायरेक्टर श्री प्रत्यक्ष शर्मा जी कहते हैं लगभग 300 गौ-वंश वर्तमान में हॉस्पिटल में हैं। उन्होंने हमें बताया की हमारे यहाँ पर दूसरे पशु-पक्षियों का भी इलाज किया जाता है। वहां पर हमें नील गाय, ख़रगोश, बिल्ली के बच्चे, डॉगी और डॉगी के बच्चे भी देखने को मिले। सभी के लिये खाने का विशेष प्रबन्ध किया जाता है। गऊओं के लिये हरा चारा, चौखर, दलिया विशेष रूप से बनाया जाता है। साफ-सफाई और स्वच्छता का बहुत ध्यान रखा जाता है। गौ-वंश के नीचे ज़मीन पर बालू रेत बिछी हुई जिससे उनको सदैव आराम रहे। पर्यावरण की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पूरे हॉस्पिटल के चारों ओर छायादार अशोक के वृ़क्ष लगे हुए हैं। सदैव स्वच्छ और जीवनी दायनि पवन बहती रहती है। "

READ MORE
Cow Hospital  | G.S.D Animal Hospital

Cow Hospital | G.S.D Animal Hospital

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल

 
आज के समय में जहाँ मानव के पास अपने काम से फुर्सत नहीं है और गायों एवं अन्य जीव जंतुओं की सेवा करने का वक्त नहीं है, वहां बीमार, बेसहारा एवं घायल गायों का इलाज करने के लिए होडल, ज़िला - पलवल, हरियाणा में स्थित है गौ सेवा धाम हॉस्पिटल | वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट की फाउंडर श्रीमद भागवत कथा वाचिका पूज्या देवी चित्रलेखा जी ने अपना पूरा जीवन इस *पशु हॉस्पिटल* को सुचारु रूप से चलाने के लिए समर्पित कर दिया है | इस पशु हॉस्पिटल की विशेष बात ये है कि यहाँ सभी गौ माताओं से लेकर जीव-जंतुओं तक का इलाज नि:शुल्क होता है |  
*गौ सेवा धाम हॉस्पिटल* जो कि ब्रज (वृन्दावन) की धरती पर होडल, हरियाणा में स्थित है | यहाँ पर ऐम्बुलेंस के माध्यम से बीमार और घायल गौवंश एवं अन्य सभी बीमार पशुओं (नीलगाय, कुत्ता, बन्दर, मोर, हिरण, बारासिंघा जैसे वन्य पशु ) को लाया जाता है और इनका इलाज किया जाता है | उपचार के लिए यहां एक मेडिकल स्टोर है जहाँ दवाइयों को व्यवस्थित रूप से रखा जाता है | गायों के लिए दलिया बनाने के लिए यहां चक्की का भी प्रावधान है | हरे चारे हेतु गऊ हरा चारा घर भी बनाया गया है जहां पर हरे चारे को काट के गौ माता को परोसा जाता है | खल, चोकर और अन्य पौष्टिक आहार के लिए खल चोकर गोदाम भी है जहाँ गौ माता के पौष्टिक आहार को स्टोर करके रखा जाता है | गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में बीमार गायों के लिए गौ रसोई का भी प्रावधान रखा गया है जिसमें दलिया और स्व-चलित रोटी बनाने वाली मशीन की सुविधा रखी गयी है जो कि अपने आप गौ माता के लिए एक घंटे में एक हज़ार रोटी बनाने की क्षमता रखती है |
READ MORE
देवी चित्रलेखाजी के जन्मदिवस पर मनाया जायेगा विश्व संकीर्तन दिवस

देवी चित्रलेखाजी के जन्मदिवस पर मनाया जायेगा विश्व संकीर्तन दिवस

Publish By - Admin

विश्व संकीर्तन महोत्सव का आरंभ 19 जनवरी को मनाया जाएगा विश्व संकीर्तन  दिवस

 
 
प्रसिद्ध कथावाचक देवी चित्रलेखा जी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में सप्तदिवसीय श्रीमद् भागवत कथा का शुभारंभ हुआ। हर वर्ष की भाँति इस बार भी 13 से 19 जनवरी तक  आयोजित होने वाले सप्त दिवसीय श्रीमद् भागवत कथा व संकीर्तन महोत्सव के विश्राम दिवस में देवी जी के अनुयायिओं के द्वारा 19 जनवरी को उनके जन्मदिवस को विश्व संकीर्तन दिवस के रूप में ही मनाया जायेगा। भागवत कथा के द्वितीय दिवस में देवी जी ने कथा के महात्मय का वर्णन किया। गौमाता की उपस्थिति, श्रीराधेकृष्ण का संकीर्तन, भावभिवोर श्रद्धालुगण से सम्पूर्ण वातावरण भक्तिमय हो गया। 
 
वहीं गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में आज मकर सक्रांति के पावन अवसर पर बाहर से आए हुए श्रद्धालु भक्त जनों ने कथा के मध्य में गौ भंडारे का भव्य आयोजन किया जिसमें यहां भर्ती बीमार गोवंश को गुड़ की ऑटी, मीठा दलिया, हरा चारा, गुड़ और तिल की गजक, रोटी व अन्य पौष्टिक व्यंजन गौ माता को खिलाएं 
 
साथ ही भक्तों ने इस भीषण सर्दी में बीमार गोवंश को गर्म कंबल रजाई भी गौ माता को भेंट की।
गौसेवा धाम हाँस्पीटल देवी जी के सानिध्य में विगत लगभग 10 वर्षों से असहाय, दुर्घटनाग्रस्त एवं बीमार गौवंश की निःशुल्क सेवा में पूर्णतः समर्पित संस्थान है। 
 
सम्पूर्ण कथा आयोजन आस्था टीवी चैनल के माध्यम से संपूर्ण विश्व में किया जा रहा है  जिसमें सीमित संख्या में श्रोतागण, मास्क का प्रयोग, उचित सामाजिक दूरी आदि के साथ कोरोना प्राटोकोल का पालन किया गया। 
READ MORE
नववर्ष पर लिया गौ सेवा का संकल्प

नववर्ष पर लिया गौ सेवा का संकल्प

Publish By - Admin

गौसेवा कर मनाया नववर्ष

 
श्रद्धालुओं ने गौमाता गुड दलिया खिला कर मनाया नववर्ष
 
नववर्ष पर लिया गौ सेवा का संकल्प
 
 
 
नये साल को लोग अपने-अपने तरीकों से मनाते हैं। ऐसे में कई व्यक्ति नववर्ष की शुरूआत आध्यात्मिक तरह से करते हैं। ऐसा ही  कोसी-होडल बॉर्डर पर स्थित गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में देखने को मिला जहां हर वर्ष की भांति  इस वर्ष भी भजन-कीर्तन तथा हवन-यज्ञ के साथ नये साल 2021 के पहले दिन का यहाँ स्वागत किया गया। 
गौवंश की उपस्थिति, कीर्तन करते हुये श्रद्धालुगण, तथा यज्ञ आहुति के मंत्रोच्चारण से समस्त वातावरण भक्तिमय हो गया। दिन के मध्य में गौमाता तथा गौंवश हेतू मीठा दलिया, हरा चारा, गुड़, गन्ना आदि का भंडारा आयोजित किया गया। समस्त आयोजन में आस-पास के प्रदेशों से भी आगन्तुक आये हुये थे जिनके लिये भी भोजन प्रसाद का भी प्रबंध था।
 आगन्तुकों में से कोई गाय को हरा चारा खिला रहा था तो कोई इस कड़ाके की सर्दी में गौसेवा धाम में उपचाराधीन बीमार गौवंश को रजाई उढा कर मानसिक शांति प्राप्त कर रहा था। छोटे बच्चे गाय के बछड़ों के साथ सेल्फी लेकर खुश थे। 
 
नववर्ष का प्रारंभ गौमाता के साथ ही क्यों ?
 
वर्तमान में जहाँ भारतीय, पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव में आकर पब, होटल और महंगे क्लबों में जाकर नया साल मनाते हैं तो वहीं दूसरी तरफ अधिकतर भारतीय अपनी संस्कृति के अनुरूप नये साल का स्वागत जरूरतमदं को सहयोग कर, गौमाता की सेवा करके भी मनाते हैं। प्रसिद्ध कथा वाचिका तथा गौसेवा धाम हाँस्पीटल की संचालिका देवी चित्रलेखा जी ने अपने नववर्ष संदेश में बताया कि आज के युवा को आधुनिकता और आध्यात्मिकता में संतुलन रखना आवश्यक है। वर्तमान में पाश्चात्य जगत के लोग भारतीय संस्कृति को अपना रहे हैं और भारतीय खुद अपनी संस्कृति से दूर होते जा रहे हैं। देवी जी ने कहा कि इस नये साल पर हम जरूरतमंद की मदद करना, असहाय एवं मूक जीवों पर दया करना, पानी को व्यर्थ न बहाना, पेड़-पौधे लगाना एवं उनकी देखभाल करना आदि जैसे कई छोटे-छोटे संकल्प ले सकते हैं।
READ MORE
ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने दिल्ली में श्री जेपी नड्डा जी के साथ शिष्टाचार करी मुलाकात

ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने दिल्ली में श्री जेपी नड्डा जी के साथ शिष्टाचार करी मुलाकात

Publish By - Admin

ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने दिल्ली में श्री जेपी नड्डा जी के साथ शिष्टाचार करी मुलाकात

 
आज वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट एवं गौ सेवा धाम हॉस्पिटल के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जेपी नड्डा जी के साथ शिष्टाचार व व्यावहारिक मुलाकात कर कर्मन कोटवन बॉर्डर पर स्थित देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में हो रही बीमार गोवंश व अन्य पशु पक्षियों के इलाज की जानकारी दी साथ ही उच्च स्तर पर गौ रक्षा और गौ संवर्धन के विषय पर चर्चा करी,
 ट्रस्ट के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने बताया कि उनकी जेपी नड्डा जी के साथ यह मुलाकात बहुत खास रही उन्होंने नड्डा जी को ब्रजभूमि में संचालित ब्रजभूमि में हो रही गौ सेवा गोसेवा धाम के भ्रमण हेतु आमंत्रित भी किया।
साथ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के दिल्ली प्रांत संघ चालक प्रदेश प्रमुख कुलभूषण आहूजा जी और संस्था के पीआरओ पुनीत गौड भी उपस्थित रहे।
मौके पर उपस्थित सभी लोगों द्वारा कोरोना गाइडलाइंस का पालन किया गया सभी ने उचित दूरी मांस्क  व सैनिटाइजर का उपयोग किया
READ MORE
 गौ सेवा धाम में पूर्ण हुआ सप्तदिवसीय गोपाष्टमी कथा महोत्सव

गौ सेवा धाम में पूर्ण हुआ सप्तदिवसीय गोपाष्टमी कथा महोत्सव

Publish By - Admin

गोपाष्टमी भागवत महोत्सव में पधारे गौ सेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग

 
गोवंश के उपचार हेतु गौ सेवा धाम सदैव समर्पित - चेयरमैन गौ सेवा आयोग
गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में चल रही सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत कथा महोत्सव का सोमवार को विश्राम हो गया। सात दिनों तक चलने वाली यह कथा अपने आप में कई तरीकों से अद्भुत रही। इस कथा महोत्सव में भगवान की कथा के साथ-साथ गौ सेवा, नारी सशक्तिकरण, बेटी-बचाओ, बेटी-पढाओं का संदेश भी समाज में प्रसारित किया गया। 
हाँस्पीटल की संचालिका देवी चित्रलेखा जी ने गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में इतने बड़े स्तर पर हो रही गौ सेवा की सफलता का श्रेय अपने पिता पं0 टीकाराम स्वामी जी को दिया। उन्होनें बताया कि अपने पूज्य पिताजी की प्रेरणा से ही वह गौ सेवा के इस पावन प्रकल्प को कर पा रही है। देवी जी स्वयं भी नारी सशक्तिकरण का जीवतं उदाहरण है। मात्र 7 वर्ष की अल्पायु से ही इतना दिव्य ज्ञान होना वाकई में प्रशंसनीय है। 
कथा के सप्तम दिवस श्री सुदामा चरित्र तथा समस्त भागवत कथा का सार देवी जी ने श्रद्धालुगण के सामने वर्णित किया। कथा के मध्य में क्षेत्र के विधायक श्री जगदीश नायर, भाजपा जिला अध्यक्ष श्री चरन सिहं तेवतिया, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष श्रवण कुमार गर्ग का भी आगमन हुआ। व्यासपीठ से आशीर्वाद लेकर आगन्तुकों ने गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में होने वाले सेवा कार्यों का अवलोकन किया तथा वह इससे अत्यन्त प्रभावित नजर आये। श्रवण कुमार ने गौ सेवा आयोग की गौशालाओं के लिये गोबर गैस प्लांट, बिजली यूनिट रेट को 7 रूपये से 2 रूप्ये प्रति यूनिट करना, सोलर पैनल जैसी कई लाभप्रद योजनाओं के बारे में बताया। उन्होनें आमजनमास से गौ सेवा में प्रत्यक्ष भूमिका निभाने का अनुरोध भी किया।
चेयरमैन ने बताया कि गौ सेवा धाम हॉस्पिटल जिस तरह से बीमार गोवंश के उपचार में दिन और रात सदैव तत्पर है वह अपने आप में बहुत गौरव का विषय है और गौ सेवा सबसे बड़ी सेवा मानी जाती है।
चेयरमैन ने यहां आईसीयू वार्ड में भर्ती बीमार गोवंश को अपने हाथों से गुड़ खिलाया, साथ ही गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में गोवंश के लिए बने अलग-अलग बीमारी के अनुसार बने वार्डों का भ्रमण भी किया।
 चेयरमैन ने बताया कि हरियाणा सरकार और गौ सेवा आयोग गौ संवर्धन और गौ रक्षा हेतु प्रयासरत है।
 साथ ही क्षेत्र के विधायक जगदीश नायर ने भी यहाँ हो रही गौ सेवा की प्रंशसा की। उन्होनें कहा कि इस तरह की गौ सेवा होना क्षेत्र के लिये अत्यन्त गर्व का विषय है। 1000 एम एच की एक्स रे मशीन, अत्याधुनिक लिफ्टयुक्त एम्बुलैसं, आधुनिक चिकित्सा उपकरण आदि गौ सेवा धाम हाँस्पीटल की चिकित्सा सुविधा को विश्व स्तरीय बनाते हैं। कोरोना काल होने के कारण अत्यंत सीमित मात्रा में ही श्रोतागण उपस्थित रहे। मास्क, उचित सामाजिक दूरी, सैनिटाइजर आदि के साथ कोरोना प्रोटोकोल का पूर्णतः पालन किया गया।
 
 
 
 
 
READ MORE
गौ सेवा धाम में धूमधाम से मनाया गया गोपाष्टमी पर्व

गौ सेवा धाम में धूमधाम से मनाया गया गोपाष्टमी पर्व

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम में धूमधाम से मनाया गया गोपाष्टमी पर्व

 
गौवंश के लिये पूर्णतः समर्पित है गौ सेवा धाम हाँस्पीटल
 
गौ सेवा धाम में आयोजित हुआ गायों हेतू भंडारा
 
गाय को भारतवर्ष की प्राचीन संस्कृति का प्रतीक माना जाता है और गोपाष्टमी का पावन पर्व इन्हीं गायों को समर्पित है। द्वापर युग से ये पवित्र उत्सव आम जन-मानस के बीच हर्षाेल्लास से मनाया जाता है। गाय की महिमा का वर्णन स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने अपने श्रीमुख से किया है। गायों की सेवा एवं उनका पालन करने के कारण ही श्रीकृष्ण को गोविन्द तथा गोपाल के नाम से  भी जाना जाता है। कहा जाता है कि जिस दिन बाल कृष्ण ने सर्वप्रथम गौ चारण किया था उस दिन की तिथि को अष्टमी थी एवं तभी से ये गोपाष्टमी का पावन पर्व प्रारम्भ हुआ। इस दिन गोपालक अपनी-अपनी गायों का भांति भांति से साज श्रगांर करते हैं। 
इसी कड़ी में गौ सेवा के क्षेत्र में ख्याति प्राप्त प्रसिद्ध कथा वाचिका देवी चित्रलेखा जी के गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में गोपाष्टमी का पर्व धूमधाम एवं सेवाभाव से मनाया गया। सूर्यादय के साथ ही दूरदराज अन्य राज्यों से पधारे गौ भक्तों ने देवी चित्रलेखा जी के साथ भजन-कीर्तन, हवन तथा गौमाता का पूजन किया। 
समस्त कार्यक्रम में बाहर से पधारे श्रद्धालु व  गोसेवा धाम सेवा धाम हॉस्पिटल का स्टाफ अन्य सभी लोग मास्क लगाए हुए नजर आए और कोरोना प्रोटोकॉल का भी पालन करते दिखे।
भगवान कृष्ण की गौ सेवा करते हुये झाँकी मुख्य आकर्षण का केन्द्र रही। दिन के मध्य में गौवंश के लिये भंडारा प्रसाद का आयोजन किया गया। जिसमें हरा चारा, गुड़, मीठा दलिया, रोटी, गन्ना आदि का वितरण न केवल गौ सेवा धाम में अपितु क्षेत्र की दर्जनों गौशालाओं में भी गौ सेवा धाम की तरफ से वितरित किया गया।
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में लगी बड़ी ऑटोमेटिक रोटी मेकर मशीन से हजारों रोटियां बना कर आसपास की गौशालाओं को भेजी गई, सिर्फ रोटी ही नहीं उसके साथ मीठा दलिया हरी सब्जी, हरा गन्ना व अन्य पौष्टिक खाद्य पदार्थ गौशालाओं को भेजे गए।
 कोरोना काल में जब इस तरह की सेवा की सबसे ज्यादा आवश्यकता है ऐसे में गौ सेवा धाम हाँस्पीटल की तरफ से इस तरह की सेवा किया जाना वाकई में प्रशंसनीय है। 
 
गौ सेवा धाम में आयोजित भागवत कथा में आये गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष
गोपाष्टमी के कार्यक्रम के बाद संध्या काल में गौ सेवा धाम में सप्तदिवसीय गोपाष्टमी कथा महोत्सव का भी आयोजन किया गया। कथा के छठे दिन कथा व्यास पूज्या देवी चित्रलेखा जी ने बाल गोपाल की नटखट क्रीड़ायें, गौ चारण, गोवर्धन लीला आदि का भावपूर्ण वर्णन किया। कथा में हरियाणा गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष श्री श्रवण कुमार गर्ग जी का भी आगमन हुआ। समम्त गौ सेवा धाम हाँस्पीटल का भ्रमण कर यहाँ हो रही गौ सेवा से वह अत्यधिक प्रभावित हुये। व्यासपीठ से आर्शीवाद लेने के बाद उन्होनें यहाँ हो रहे सेवा कार्यों की प्रंशसा की। उन्होने कहा कि जिस स्थान पर गाय निर्भय होकर सांस लेती है वह स्थान अत्यधिक पवित्र एवं पुण्यवान होता है। ऐसे स्थान पर किये गये जप-तप अपेक्षाकृत जल्दी फल देने वाले होते हैं। समस्त कथा आयोजन में कोविड प्रोटोकोल का पूर्णतः पालन किया गया। समस्त श्रोतागण उचित सामाजिक दूरी के साथ मास्क पहने हुये उपस्थित रहे।
 
विदित रहे कि गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में बीमार, लाचार, असहाय एवं दुर्घटनाग्रस्त गौंवश का निःशुल्क उपचार किया जाता है। यहाँ अत्याधुनिक मशीन, लिफ्ट युक्त एम्बुलैंस, गायों को उनकी बीमारी के अनुसार रखने के लिये अलग-अलग वार्ड, प्रशिक्षित चिकित्सक, कुशल गौ सेवक, अत्याधुनिक मेडिकल उपकरण आदि की पूर्ण सुविधा है। जो कि यहाँ की चिकित्सा सुविधा को कहीं बेहतर बनाती है। इन्हीं कारणों से गौ सेवा धाम हाँस्पीटल न सिर्फ क्षेत्र में अपितु सम्पूर्ण देश तथा विदेशों में भी जाना जाता है। यह संस्थान लगभग 10 वर्षां से गौवशं की सेवा में पूर्णतः समर्पित है।
 
 
 
 
 
READ MORE
सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का हुआ शुभारंभ

सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का हुआ शुभारंभ

Publish By - Admin

गौसेवा धाम में धूमधाम से मनायी जायेगी गोपाष्टमी

 
सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का हुआ शुभारंभ
 
 
प्रसिद्ध कथावाचक देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में कोटवन - करमन बॉर्डर पर स्थित गौसेवा धाम हाँस्पीटल में बीमार गौवंश के सेवार्थ सप्तदिवसीय गोपाष्टमी भागवत महोत्सव का विगत मगंलवार से श्रीगणेश हुआ। 
महोत्सव के प्रथम दिवस में देवी जी ने भागवत कथा के महात्मय का वर्णन किया। अस्पताल के मीडिया प्रभारी राहुल तिवारी ने जानकारी देते  हुए  बताया कि 17 से 23 नवंबर तक चलने वाले इस कथा महोत्सव के मध्य में ही 22 नवंबर को गोपाष्टमी का महापर्व बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा। गोपाष्टमी के दिन ही प्रथम बार भगवान श्री कृष्ण ने गौ चारण आरंभ किया था। 
जैसे राधाष्टमी पर बरसाना के मंदिरों में भव्य उत्सव मनाया जाता है ठीक वैसा ही गोपाष्टमी का पावन पर्व  गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में भी धूम धाम से मनाया जाता है। क्योंकि गौसेवा धाम हाँस्पीटल में  बीमार व असहाय गौवंश को आश्रय देकर उनका उपचार व उचित देखभाल की जाती है तथा यह हाँस्पीटल गौ माता की सेवा के लिये पूर्णतः समर्पित है। 
हर वर्ष की भांति इस बार भी गोपाष्टमी के पर्व पर होने वाले गाै महाभोज में विशेष रूप से गौ माता की आरती तथा यहां भर्ती बीमार गौवशं के लिये मीठा दलिया, हरा चारा, गुड़ आदि का भंडारा अयोजित किया जायेगा। सम्पूर्ण कथा में कोरोना प्रोटोकोल का विशेष रूप से ध्यान रखा गया। सीमित मात्रा में श्रद्धालु उचित शारीरिक दूरी के साथ मास्क पहने हुये नजर आये।
 
ज्ञात रहे कि गौसेवा धाम हाँस्पीटल क्षेत्र में गौसेवा में अग्रणी भूमिका निभाता रहा है। यहाँ पर लाचार, अनाथ, असहाय तथा दुर्घटनाग्रस्त गौवंश के साथ अन्य जीव जंतु व पशु पक्षियों का का निःशुल्क उपचार किया जाता है। 
READ MORE
कोरोना काल में झूम उठे कथा श्रोता

कोरोना काल में झूम उठे कथा श्रोता

Publish By - Admin

भगवत सिखाती है जीने की कला - देवी चित्रलेखाजी 

कोरोना काल में झूम उठे कथा श्रोता 
 
अधिक मास में बही भागवत कथा की बयार
 
कोटवन करमन बार्डर पर स्थित गौसेवा धाम हाँस्पीटल में सप्तदिवसीय भागवत कथा का आयोजन विगत शनिवार से प्रारम्भ हुआ। 
जैसा की सबको विदित है मार्च महीने से ही कोरोना के वजह से सर्कार द्वारा सभी प्रकार के आयोजनों पररोक लगाई थी, लेकिन अब केंद्र सरकार ने धार्मिक आयोजनों को कुछ शर्तो के साथ मंजूरी दे दी है और निम्न शर्तों के देखते हुए कथा पंडाल में सीमित संख्या में ही श्रद्धालुगण कथा में उपस्थित रहे। 
कथा व्यास देवी चित्रलेखा जी ने बताया कि प्रथम बार कृष्णलीला  कथा गोवर्धन के कुसुम सरोवर पर उद्धव जी ने कृष्ण की पटरानियों को सुनायी। 
 साथ ही उन्होनें कहा कि अधिक मास में दान-पुण्य, जप-तप का प्रभाव कई गुना बढ़ जाता है। कथा के मध्य में श्री किशोरीजू के भजनों पर समस्त भगवत प्रेमी झूमते नजर आये। इस दौरान कथा में आये श्रद्धालुओं ने गौमाताओं को हरा चारा, गुड़ आदि खिलाकर पुण्य लाभ भी कमाया। समस्त आयोजन में कोरोना के प्रोटोकोल का पूर्णतः पालन किया गया। मास्क, उचित दूरी, स्वच्छता आदि का पूरी तरह से ध्यान रखा गया।
कथा के अंत में भक्तो को  प्रसाद भी वितरण किया गया
READ MORE
गौ सेवा धाम हॉस्पिटल जैसी जीव सेवा कहीं और नहीं - मूलचंद शर्मा

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल जैसी जीव सेवा कहीं और नहीं - मूलचंद शर्मा

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम हॉस्पिटल जैसी जीव सेवा कहीं और नहीं - मूलचंद शर्मा

पलवल। हरियाणा के कैबिनेट मंत्री श्री मूलचन्द शर्मा ने कोटवन कर्मन बॉर्डर पर स्थित देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में संचालित गौ सेवा धाम होडल का दौरा किया,
इस मौके पर गौसेवा धाम में बेसहारा पशुओं के इलाज से सम्बंधित जानकारी ली। 
कैबिनेट मंत्री श्री मूलचन्द शर्मा ने कहा की गौ सेवा से बड़ा पुण्य कार्य और कोई नही है, 
इसलिए गौ माता की सेवा को अपने जीवन मे अपनाना चाहिए।
 गौ सेवा धाम होडल में चल रहे पशु अस्पताल में बेसहारा पशुओं की जिस तरीके से इलाज किया जा रहा है वो बहुत ही सराहनीय कार्य है। मूलचंद शर्मा जी ने यहां भर्ती बीमार गोवंश को अपने हाथों से रोटी खिलाई साथ ही पशुओं के लिए बने ऑपरेशन थिएटर आधुनिक लैब व अन्य सुविधाओं को देखकर काफी खुश हुए,
गौ सेवा धाम अस्पताल की संचालिका  देवी चित्रलेखा जी को गौ सेवा के लिए कैबिनेट मंत्री मूलचन्द शर्मा ने बधाई देते हुए कहा कि देवी चित्रलेखा जी और उनके परिवार द्वारा बीमार गोवंश व अन्य पशु पक्षियों हेतु संचालित पशु अस्पताल की प्रशंसा सिर्फ भारत ही नहीं अपितु विदेशों में भी सुनने को मिलती है, देवी चित्रलेखा जी द्वारा संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल ने अपने क्षेत्र का नाम रोशन किया है,
 कैबिनेट मंत्री ने कहा कि यह वही बृजभूमि है जिसमे भगवान श्री कृष्णा ने भी गौमाता की सेवा की थी । कैबिनेट मंत्री ने गौ सेवा धाम में बेसहारा पशुओं के लिए दी गई सुविधाओं का भी जायजा लिया । देवी चित्रलेखा और उनके पिताजी  पंडित टीकाराम स्वामी जी ने मंत्री का गो और गोविंद वाली स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया।
READ MORE
बृज की गौ माताओं की रज से होगा श्री राम मंदिर का भूमि पूजन

बृज की गौ माताओं की रज से होगा श्री राम मंदिर का भूमि पूजन

Publish By - Admin

बृज की गौ माताओं की रज से होगा श्री राम मंदिर का भूमि पूजन

अयोध्या में 5 अगस्त को भव्य श्री राम मंदिर के भूमि पूजन के लिए कोटवन कर्मन बॉर्डर पर स्थित देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल से गौ माताओं के चरणो  की रज को विश्व हिंदू परिषद की मदद से राम मंदिर भूमि पूजन में लगाया जाएगा,
देवी चित्रलेखा जी ने राम मंदिर निर्माण की अग्रिम शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रभु श्रीराम में आस्था रखने वाले करोड़ों लोगों का 500 वर्ष से ज्यादा का इंतजार खत्म हुआ और आने वाली 5 अगस्त को देश में दीपावली जैसा भव्य वातावरण रहेगा.
देवी चित्रलेखा जी ने बताया कि सभी सनातन प्रेमी अपने घरों में रहकर ही इस दिन को हर्षोल्लास से मनाएं 
और घर पर दीप जलाकर भगवान श्री राम मंदिर के भूमि पूजन की खुशियां बांटे,
देवी जी ने बताया कि पांच अगस्त को भूमि पूजन के साथ बहु प्रतीक्षित मंदिर निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा. 
 
जहां एक तरफ भारत के अलग-अलग हिस्सों से पवित्र मिट्टी राम जन्म भूमि को पहुंचाई जा रही है वहीं देवी चित्रलेखा जी ने बीमार गोवंश के लिए संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में रह रही गोवंश के पैरों की मिट्टी को भी विश्व हिंदू परिषद की मदद से राम जन्मभूमि को पहुंचाया जाएगा जिस पवित्र मिट्टी का उपयोग श्री राम मंदिर के भूमि पूजन में होगा
 
मौके पर मौजूद ट्रस्ट के अध्यक्ष पं•  टीकाराम स्वामी जी ने भी सभी राम भक्तों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना महामारी में  प्रशासन के नियमों का पालन करते हुए सभी घरों में रहकर ही 5 अगस्त को श्री राम मंदिर भूमि पूजन को हर्षोल्लास से मनाएं सभी घरों में मिठाइयां बांटे व घरों में रहकर ही पूजा अर्चना कर कीर्तन करें
 
इस मौके पर विश्व हिंदू परिषद के प्रखंड अध्यक्ष डॉ मनोज बघेल, 
संस्था के मीडिया कोऑर्डिनेटर राहुल तिवारी, पुष्पा तिवारी विनोद शर्मा विष्णु, डॉक्टर पवन, डॉक्टर सत्येंद्र,अनिल, इंद्रेश 
व अन्य लोग उपस्थित रहे
उपस्थित सभी भक्तों ने श्री राम और गौ माता के जयकारे भी लगाए
 
 
 
Attachments area
 
 
 
READ MORE
तस्करो से बचाये 1 ट्रक में फंसे 2 दर्जन से अधिक गौवंश, दो मृत मिले

तस्करो से बचाये 1 ट्रक में फंसे 2 दर्जन से अधिक गौवंश, दो मृत मिले

Publish By - Admin

तस्करो से बचाये 1 ट्रक में फंसे 2 दर्जन से अधिक गौवंश, दो मृत मिले

प्रातः पुलिस को कोसी कलां (Mathura) के समीप एक अज्ञात ट्रक के खड़े होने की सूचना मिली। जब पुलिस ने उस ट्रक के अंदर देखा तो उसमें 26 गाय ठूंस ठूंसकर कर भरी हुई थी। जिसमें से दो गाय मर गई थी। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए तुरंत उस ट्रक को कोसी हरियाणा बॉर्डर पर स्थित देवी चित्रलेखा जी द्वारा संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल पहुंचाया। बताया जाता है की इस गौवंश को कतल खाने ले जाया जा रहा था जिनको वक्त रहते कासाईयो के चंगुल से छुडाकर बन्दी बने गौ वंश को आजाद कराया ट्रक मैं बुरी तरह भारी होने के कारन एक दर्जन गायो की हालत अत्यधिक खराब मिली । घायल गौवंश का गौ सेवा धाम मै उपस्थित चिकित्सकों ने गाय को देखा तो दो गाय मृत पायी गयी तथा बाकी कई बेहोशी की हालत में मिली। जिनका उपचार तुरन्त शुरू कर दिया है ट्रक में गायों की सूचना मिलते ही हिंदूवादी संगठन के लोग भी वहां पहुंच गए

READ MORE
चित्रलेखा जी के हाँस्पीटल में विपुल गोयल ने मनाया गोपाष्टमी का पर्व

चित्रलेखा जी के हाँस्पीटल में विपुल गोयल ने मनाया गोपाष्टमी का पर्व

Publish By - Admin

चित्रलेखा जी के हाँस्पीटल में विपुल गोयल ने मनाया गोपाष्टमी का पर्व

गौ पूजन व गौभंडारा कर मनाया गया गोपाष्टमी का पर्व चित्रलेखा जी के हाँस्पीटल में विपुल गोयल जी ने मनाया गोपाष्टमी का पर्व गोपाष्टमी पर हुआ गायों का पूजन देशी-विदेशी भक्तों सगं मनाया गया गोपाष्टमी का पर्व   करमन बार्डर स्थित देवी चित्रलेखा जी के गौसेवा धाम हाँस्पीटल में विगत शुक्रवार को गोपाष्टमी का पर्व वड़ी धूमधाम से मनाया गया।  आस-पास के साथ दूर-दराज तथा विदेश तक से आये श्रद्धालुओं ने प्रातःकाल हवन, कीर्तन के बाद समूचे गौसेवा धाम की परिक्रमा के साथ कार्यक्रम का श्रीगणेश किया।  तत्पश्चात मुख्य अतिथि के रूप में हरियाणा सरकार के उघोग एवं पर्यावरण मंत्री श्री विपुल गोयल ने गायों को गुड़ खिलाकर गोपाष्टमी पर आयोजित गोष्ठी की शुरूआत की। उन्होनें बताया कि भगवान कृष्ण ने 5 साल 2 माह की उम्र में गायों को सर्वप्रथम चराना प्रारंभ किया था तभी से गोपाष्टमी का पर्व मनाया जाने लगा। साथ ही श्री गोयल ने प्रदेश सरकार की उपलब्धि बताते हुये कहा कि सरकार ने गौवंश की सेवा हेतू गौसेवा आयोग के नाम से एक विभाग की स्थापना की है जो कि गौवंश के संवर्धन पर कार्य करता है। गौसेवा धाम हाँस्पीटल में की जा रही असहाय गौंवश की सेवा से प्रभावित होकर उन्होनें 11 लाख रूपये का सहयोग भी देने का आश्वासन दिया व आगामी समय में एक बड़ी अल्ट्रसाउंड मशीन हरियाणा सरकार से दिलावाने का भी आश्वासन दिया। गौ सेवा धाम संचालिका देवी चित्रलेखाजी ने गोपाष्टमी को महत्व को समझते हुए बताया की कार्त‍िक मास के शुक्‍ल पक्ष की अष्‍टमी को गोपाष्‍टमी के रूप में मनाया जाता है. इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने गौ चारण लीला शुरू की थी. गाय को गोमाता भी कहा जाता है. क्‍योंकि गाय को मां का दर्जा दिया गया है. ऐसी मान्‍यता है क‍ि इसी द‍िन बाल कृष्‍णा और बलराम ने गाय चराना शुरू क‍िया था. एक दूसरी कहानी जो प्रचल‍ित है, उसके अनुसार ऐसा कहा जाता है क‍ि बाल कृष्‍ण ने माता यशोदा से इस द‍िन गाय चराने की ज‍िद की थी और यशोदा मइया ने कृष्‍ण के प‍िता से इसकी अनुमत‍ि मांगी थी. नंद महाराज से अनुमत‍ि दे दी और एक ब्राह्मण से म‍िले. ब्राह्मण ने कहा क‍ि गाय चराने की शुरुआत करने के ल‍िए यह द‍िन अच्‍छा और शुभ है. इसल‍िए अष्‍टमी पर कृष्‍ण ग्‍वाला बन गए और उन्‍हें गोव‍िन्‍दा के नाम से लोग पुकारने लगे   समस्त आयोजन में आसपास की समस्त गौशालों के प्रधाऩ व समस्त चैबीसी की सरदारी पंच तथा सरपंच, देश व विदेश से आये गौभक्त मुख्य रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में उपस्थित हजारों की संख्या में आये हुये भक्तों के लिये भंडारा प्रसाद वितरित किया गया साथ में ही 10 से ज्यादा गौशालाओं की 10 हजार से अधिक गायों के लिये गौ महाभोज हेतू हरा चारा, खीर, मीठा दलिया, हरी सब्जियाँ, गुड़, हजारों ताजी रोटियाँ आदि गौसेवा धाम में तैयार कर गौशालाओं को भिजावाई गयी।  

READ MORE
अतिथि देवो भव: को साकार करता गौ सेवा धाम

अतिथि देवो भव: को साकार करता गौ सेवा धाम

Publish By - Admin

अतिथि देवो भव: को साकार करता गौ सेवा धाम

अतिथि देवो भव: को साकार करता गौ सेवा धाम, पर्यटकों को खूब भा रहा है देवी चित्रलेखाजी का गौ सेवा धाम हॉस्पिटल, पिछले 6  वर्षो से बीमार पशुओ के लिए वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट के तत्वावधान में संचालित गौ सेवा धाम हॉस्पिटल में विगत रविवार को  स्विट्ज़रलैंड  व फ्रांस की महिलाओ के  ग्रुप ने यहां चल रही सेवाओं को नज़दीक से देखा व खुद भी गौ सेवा करी, सेवाओं को देखने आयी एक विदेशी महिला ने बताया की इस से पहले उन्होंने अपने 30  साल के जीवन में अभी तक  इस तरह की सेवा नहीं देखी है, देवी चित्रलेखाजी ने बहुत अच्छा सेवा कार्य किया है जो बेजुबान पशु-पक्षिओ के लिए इतना अच्छा और उच्च स्तर का इलाज किया जा रहा है,  साथ ही समस्त कार्य के लिए देवी चित्रलेखाजी के परिवार की खूब सराहना की जो देवीजी के इस कार्य में उनका साथ देते आये है,  यहां कार्य कर रहे डॉक्टर्स व अन्य कर्मचारीओ को सराहना करते हुए कहा की आप सभी बहुत खुसनसीब है जो यहां कार्य करने का मौका मिला है, सभी महिला ने एक साथ जय गौ माता के नारे भी साथ ही "काऊ नीड्स ग्रास नॉट ट्रैश" का स्लोगन भी बोला व पूरी  दुनिया से अपील करते हुए कहा की गौवंश को चारा खिलाओ न की कचरा और प्लास्टिक. ऐसा पहली बार नहीं है की अस्पताल को देखने विदेशी लोग आये हो इससे पहले भी यहां  संचालित सेवाओं को कई अन्य देशो के लोग आ चुके है व अस्पताल द्वारा घायल व बीमार पशुओ के लिए किये जा रहे निशुल्क उपचार की जमकर प्रशंसा करते है, इस मौके पर ट्रस्ट के महासचिव प्रत्यक्ष शर्मा, साथ में माधव प्रभुजी, राहुल तिवारी, पुनीत गौर, विनोद शर्मा, विष्णु भरद्वाज भरत सिंह, कुलदीप चौधरी , अनिल तोमर, डा पवन, डा निरोत्तम, डा गोपाल, श्याम महाराज व समस्त  कर्मचारी गण मौजूद रहे 

READ MORE
गौसेवा धाम में हुआ ब्रजयात्रियों का भव्य स्वागत

गौसेवा धाम में हुआ ब्रजयात्रियों का भव्य स्वागत

Publish By - Admin

गौसेवा धाम में हुआ ब्रजयात्रियों का भव्य स्वागत

ब्रजधाम की महिमा का प्रचार करती देवी चित्रलेखा जी विदेश से आए सैकड़ों यात्रियों ने चखा ब्रज का देसी खाना गौसेवा धाम में हुआ ब्रजयात्रियों का भव्य स्वागत वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट  की फाउंडर देवी चित्रलेखा जी के सानिध्य में चल रही सप्तदिवसीय ब्रजयात्रा शुक्रवार को गौसेवा धाम हाँस्पीटल पहुँची।  यात्रा में भारत के अलावा अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, अफ्रीका आदि देशों के सैकड़ों यात्रीगण सम्मिलित रहे। यात्रा के छठे दिन का श्रीगणेश ब्रज के प्राचीन ग्राम खाम्बी में स्थित ब्रजखम्ब और चमेली वन के दर्शन कर किया गया। तत्पश्चात समस्त यात्री होडल स्थित गौसेवा धाम हाँस्पीटल पहुँचे। जहाँ सभी का स्वागत फूल मालाओं के द्वारा किया गया। यात्रियों ने यहाँ गौमाताओं की परिक्रमा की तथा मीठा दलिया, हरा चारा आदि गौंवश को खिलाया।  गौसेवा धाम हाँस्पीटल की तरफ से समस्त ब्रजयात्रियों को दोपहर के भोजन में बाजरे की रोटी मक्खन गुड लस्सी का प्रसाद वितरित किया गया।  प्रसाद वितरण के बाद देवी जी के सानिध्य में भजन कीर्तन का आयोजन किया गया जिसमें देवीजी ने बाहर से आये हुये आगन्तुकों को ब्रज की महिमा का वर्णन भी सुनाया। तत्पश्चात समस्त यात्रा हरे कृष्ण महामंत्र का जाप करते हुये अगले पड़ाव की ओर अग्रसर हुयी। यात्रा में ट्रस्ट के अध्यक्ष पं0 टीकाराम स्वामी, प्रत्यक्ष शर्मा, माधव प्रभु जी, बृज लता, पुष्पा, राधिका, विनोद शर्मा, राहुल शर्मा, पुनीत गौड़, विष्णु भारद्वाज, भरत सिंह, रोहित राजपूत, बृजेंद्र कौशिक, भगत सिंह रावत तथा दर्जनों कार्यकर्ताओं का विशेष रूप से सहयोग रहा। 

READ MORE
प्लास्टिक बैन को लेकर निकाली गयी रैली

प्लास्टिक बैन को लेकर निकाली गयी रैली

Publish By - Admin

प्लास्टिक बैन को लेकर निकाली गयी रैली

प्लास्टिक बैन को लेकर निकाली गयी रैली गौ सेवा धाम की प्लास्टिक बैन रैली का विदेशी भी हिस्सा बनें होडलः विगत बुधवार को महात्मा गांधी जी के 150वीं जयंती पर प्लास्टिक पर रोक लगाने हेतू कस्बे के सती तालाब से लेकर राजकीय राजकीय विद्यालय तक गौसेवा धाम हाँस्पीटल के तत्वावधान में एक विशाल रैली निकाली गयी।  रैली को  गोसेवा धाम के अध्यक्ष पंडित टीकाराम स्वामी जी ने हरी झंडी दिखा रैली की शुरुआत करी. इस रैली में आस-पास के क्षेत्र के लोग तथा दर्जन भर विदेशियों तथा होडल माध्यमिक विद्यालय के सैंकडों बच्चों ने इस जागरूकता अभियान में हिस्सा लिया। नो प्लास्टिक, स्टाप प्लास्टिक, बैन प्लास्टिक, सेव अर्थ, पेड़ लगाये-पर्यावरण बचाये, हम सबका एक ही नारा-पाँलीथीन हटाना लक्ष्य हमारा आदि कई नारे लगाये। लोग पाँलीथीन एवं प्लास्टिक से होने वाले नुकसानों को बताते हुये तख्ती तथा बैनर लेकर चल रहे थे। रैली में हजारों जूट के थैले तथा सैंकडों कुल्हड़ आदि वितरित किये गये तथा उपस्थित व्यापारी तथा लोगों से सिंगल यूज प्लास्टिक-पाँलिथीन का प्रयोग पूर्णतः रोकने की अपील की गई। महामंत्री प्रत्यक्ष शर्मा ने बताया कि प्लाँस्टिक केवल पर्यावरण के लिये ही नहीं अपितु इंसान व जानवरों के लिये भी हानिकारक है। उनके हाँस्पीटल में गायों के पेट से आँपरेशन के दौरान 60-60 किलो तक पाँलिथीन निकाली जा रही है। जिसकी वजह से गौ सेवा धाम हाँस्पीटल तो विगत 5 वर्षों से ही इस प्लास्टिक बैन की मुहिम को आगे बढ़ा रहा है। अब प्रधानमंत्री मोदी जी के कहे जाने के बाद इस अभियान में और तेजी आयेगी। सम्पूर्ण रैली में राहुल शर्मा, विनोद शर्मा, ललित आर्य, पुनीत गौड़, सुशील, ब्रजेन्द्र, भरत सिहं, प्रधान नेतराम शास्त्री, भगत सिहं, हेमदत्त, नेत्रपाल मास्टर, धीरज मैथिल, दीवान चदं, राजकीय माध्यमिक विद्यालय के प्रधानाचार्य जीतपाल, सैकड़ों स्थानीय लोग, समस्त गोसेवा धाम के कर्मचारी तथा व्यापारीगण के साथ-साथ विदेशी भक्त भी उपस्थित रहे। 

READ MORE
गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में मनाया गया होली महोत्सव

गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में मनाया गया होली महोत्सव

Publish By - Admin

गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में मनाया गया होली महोत्सव

गौ सेवा धाम हाँस्पीटल में मनायी गयी फूलों की होली
गौसेवा के लिये ही बना है गौसेवा धाम: रमेश भाई ओझा (भाई श्री)

करमन बार्डर स्थित देवी चित्रलेखा जी के गौसेवा धाम हाँस्पीटल में विगत गुरूवार को होली मिलन समारोह का भव्य आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि श्री रमेश भाई ओझा (भाई श्री) के द्वारा दीपप्रज्जवलन किया गया। उन्होनें अपने वक्तव्य में गौसेवा धाम हाँस्पीटल को करूणा मंदिर बताते हुय देवी जी के सानिघ्य में संचालित पशु अस्पताल में असहाय, लाचार एवं दुर्घटनाग्रस्त गौवंश के साथ अन्य पशु-पक्षियों  की हो रही सेवा की जमकर सराहना की। उन्होनें कहा कि जव देवी जी व उनके परिवार के निश्चय करने से इतनी संख्या में गौंवश को आश्रय मिल सकता है तो अन्य युवा भी अगर गौसेवा का दृढ निश्चय कर ले तो निश्चित ही वर्तमान गौंवश की दयनीय स्थिति सुधर सकती है। 

कार्यक्रम में होडल के विधायक जगदीश नायर भी पहुँचे। उन्होनें गौसेवा धाम में हो रही गौ सेवा का अवलोकन किया। वह यहाँ हो रही गौंवश तथा अन्य जीव जन्तुओं की सेवा से इतने प्रभावित हुये कि उन्होने इस सेवा के लिये 11 लाख रूपये की सहयोग राशि देने की घोषणा की।
निरन्तर लगा रहता है वह रोग, व्याधि से अन्य लोगों के तुलना में कम प्रभावित होता है। समारोह का मुख्य आकर्षण ब्रज की फूलों की होली, होडल के गायक पं0 सुरेश शास्त्री, वृदांवन के रसिक गायक पं0 प्रंशात व बनवारी लाल का गायन रहा। जिसका आस-पास के क्षेत्रवासियों के साथ- साथ आये हुये समस्त आगन्तुकों ने आनंद उठाया। कार्यक्रम का समापन भंडारे के साथ हुआ,  
कार्यक्रम में ट्रस्ट के अध्धयक्ष पं0 टीकाराम स्वामी, महामंत्री प्रत्यक्ष शर्मा, माधव प्रभु जी, रमनदेव शर्मा, मीडिया प्रभारी राहुल शर्मा, विनोद शर्मा, पुनीत गौड़, तरुण सेठ,  गौरक्षा दल होडल, कोसी , मेवात, राजस्थान व कई सामाजिक सस्थाओं के प्रतिनिधि आदि का विशेष रूप से सहयोग रहा।

READ MORE
नववर्ष स्पेशल वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट क़े चेयरमैन देवी चित्रलेखाजी के पिताजी श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता वाली २० रसिक जनों की अखंड श्री हरेनाम संकीर्तन टोली अंग्रेजी नववर्ष के शुभवसर पर हरियाणा के बल्लभगढ़ पहुंची

नववर्ष स्पेशल वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट क़े चेयरमैन देवी चित्रलेखाजी के पिताजी श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता वाली २० रसिक जनों की अखंड श्री हरेनाम संकीर्तन टोली अंग्रेजी नववर्ष के शुभवसर पर हरियाणा के बल्लभगढ़ पहुंची

Publish By - Admin

New Year Special World Sankirtan Tour Trust

नववर्ष स्पेशल  वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट क़े चेयरमैन देवी चित्रलेखाजी के पिताजी श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता वाली २० रसिक जनों  की अखंड श्री हरेनाम संकीर्तन टोली अंग्रेजी नववर्ष के शुभवसर पर हरियाणा के  बल्लभगढ़ पहुंची   जहाँ सैकड़ों की संख्या मे स्थानीय लोगों ने संकीर्तन यात्रा मे हिस्सा लिया व नव वर्ष पर श्री हरी नाम संकीर्तन का उच्चारण किया, स्वामीजी ने कहा की हमको नववर्ष क़े साथ प्रितिदिन भी श्री हरिनाम संकीर्तन का उच्चारण करते रहना चाहिये क्यूकि कलियुग में नाम संकीर्तन के अलावा जीव के उद्धार का अन्य कोई भी उपाय नहीं है, और बृहन्नार्दीय पुराण में लिखे एक श्लोक का जिक्र करते हुए कहते है की – हरेर्नाम हरेर्नाम हरेर्नामैव केवलं| कलौ नास्त्यैव नास्त्यैव नास्त्यैव गतिरन्यथा|| अर्थात  कलियुग में केवल हरिनाम, हरिनाम और हरिनाम से ही उद्धार हो सकता है| हरिनाम के अलावा कलियुग में उद्धार का अन्य कोई भी उपाय नहीं है! नहीं है! नहीं है!  

READ MORE
बाजारों में ब्लेड वायरिंग की बिक्री पर जल्द लगेगा प्रतिबंध

बाजारों में ब्लेड वायरिंग की बिक्री पर जल्द लगेगा प्रतिबंध

Publish By - Admin

बाजारों  में ब्लेड वायरिंग की बिक्री पर जल्द लगेगा प्रतिबंध    गौ सेवा धाम के महासचिव और एस पी सी ऐ पलवल के अध्यक्ष प्रत्यक्ष शर्मा और गौ रक्षा सेवा समिति होडल  के अध्यक्ष भगत सिंह रावत ने एक अच्छी पहल की है  पहल मैं उन्होंने पलवल के जिला उपायुक्त मनीराम शर्मा से विगत शुक्रवार को  व्यक्तिगत मुलाकात कर  ज्ञापन सौंपा जिसमे बाजारों में  धड़ल्ले  से बिक रहे ब्लेड वायरिंग को  रोकने का निवेदन किया है (ब्लेड वायरिंग की बिक्री पर प्रतिबंध लगाने का निवेदन किया)   जिला उपायुक्त से निवेदन करते हुए प्रत्यक्ष शर्मा ने बताया की जब हरियाणा सरकार ने ब्लेड वायरिंग की बिक्री को प्रतिबंधित किया हुआ है तोः हमारे जनपद मै भी ब्लेड वायरिंग की बिक्री प्रतिबंधित होनी चाहिए    जिला पलवल के बाजारों में बिक रही ब्लेड वायरिंग से काफी ज्यादा संख्या में आवारा व पालतू पशु उलझ कर घायल हो  जाते है शर्मा ने किसानो से भी अपील करते हुए कहा कि किसान अपने खेत की घेराबंदी इस ब्लेड वायरिंग से ना करे   किसानो के पास और भी विकल्प है जैसे की वो कांटेदार तार का भी प्रयोग कर सकते है    पुराने  रिकॉर्ड का हवाला देते हुए शर्माजी ने बताया की ब्लेड वायरिंग मै उलझे सैकड़ों पशुओ को उनकी टीम ने रेस्क्यू करके सुरक्षित  बचाया है  वायरिंग में उलझी हुई काफी गायो का गौ सेवा धाम ने इलाज भी किया है   इस मौके पर प्रत्यक्ष शर्मा, भगत सिंह, ललित आर्य, हरिंदर, सुखदेव व गौ सेवा आयोग के सदस्य रामजीलाल रावत मुख्य रूप से उपस्थित रहे 

READ MORE
पंडित श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता में संचालित अखंड श्री हरिनाम कीर्त

पंडित श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता में संचालित अखंड श्री हरिनाम कीर्त

Publish By - Admin

वर्ल्ड संकीर्तन टूर ट्रस्ट के चैयरमेन पंडित श्री टीकाराम शर्मा (स्वामीजी) की अध्यक्षता में संचालित अखंड श्री हरिनाम कीर्तन की २० रसिक जनों की टीम ग्राम खांबी के चैतन्य कुटीर आश्रम से श्री राधा निकुंज आश्रम के लिए कीर्तन करते हुए।  स्वामी जी व माता व्रजलता जी की उपस्थित में कीर्तन राधा निकुंज आश्रम में चला।  जय राधे ...

READ MORE

Join your hand with us for a better life and beautiful future.